22.8.20: Ganeshotasav at Bengaluru Ashram.

22.8.20: Ganeshotasav at Bengaluru Ashram.

#गणेशचतुर्थी पर्व एक ऐसा पर्व है जो हमारे जीवन मे सुंदर भाग्योदय करने का विशेष अवसर है। इस पर्व पर गणपतिजी का पूजन, अर्चन करने से पग पग पर आ रहे विघ्नों की समाप्ति होती है व जीवन सुखमय बनता है।

#AshramBlr में #GaneshChaturthi2020 पर #गणेशोत्सव निमित्त Lord Ganesha के श्री विग्रह की स्थापना हो रही है।

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं गणेश्वराय ब्रह्मरूपाय चारवे । सर्वसिद्धिप्रदेशाय विघ्नेशाय नमो नम:।।

👆उपरोक्त मंत्र का #गणेशचतुर्थी के दिन जप करने से समस्त मनोकामनाओं की पूर्ति व सर्वसिद्धि की प्राप्ति सहज में हो सकती है।

#GaneshChaturthi साधक वर्ग को सन्देश देती हैं जाग्रत, स्वप्न सुषुप्ति, ये 3 अवस्थाएं जीव की हैं ,और तुरीयावस्था गणपतिजी की है, तुम्हे सत्संग पसंद हो जाये, तो समझना गणेश चतुर्थी पर गणेशजी ने कृपा की है तुम पर।

ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार #गणेशचतुर्थी के दिन श्रीगणेशजी की विशेष प्रसन्नता के लिए "गणेश गायत्री मंत्र" का जप करें। मंत्र- महाकर्णाय विद्महे,वक्रतुण्डाय धीमहि, तन्नो दन्ति: प्रचोदयात।

▶22 अगस्त- #HappyGaneshChaturthi /श्री गणेश/कलंक चतुर्थी, (चन्द्र दर्शन निषिद्ध, चन्द्रास्त-रात्रि 9:49)

भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को चंद्रमा का दर्शन नहीं करना चाहिए अगर भूलवश दर्शन हो भी जाए तो भगवद्गीता के दशम स्कंध के 55-56 अध्याय की स्यमंतक मणि की कथा सुननी चाहिए इससे दोष निवारण हो जाता है। #गणेशचतुर्थी #GaneshChaturthi https://youtu.be/ueXmadTpQno

👉#गणेशचतुर्थी पर मेधाशक्ति के लिए-"ॐ गं गणपतये नमः" का जप करें।

Previous Article 8.9.19: श्री गणेश जी के श्री विग्रह का विसर्जन...
Print
422 Rate this article:
1.0
Please login or register to post comments.
RSS